सांसद प्रज्ञा ठाकुर से जुड़े सूत्रों का कहना है कि उन्हें सिर, आंख और कमर में परेशानी के बाद एम्स में भर्ती कराया गया है. डॉक्टरों ने साध्वी को आराम की सलाह दी है. | bhopal News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

प्रज्ञा ठाकुर एम्स में भर्ती, बोलीं- 1 आंख से दिखना बंद हुआ, दूसरे से दिख रहा केवल 25%, ब्रेन में है सूजन और पस | bhopal - News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

भोपाल. बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) की गुमशुदगी के पोस्टर भोपाल (Bhopal) में लगने के अगले दिन यानी शनिवार को उनके दिल्ली के एम्स अस्पताल (AIIMS) में भर्ती होने की खबर आई है. सूत्रों के मुताबिक साध्वी प्रज्ञा स्वास्थ्य संबंधी समस्या के कारण पिछले काफी समय से दिल्ली में हैं. उन्होंने वीडियो संदेश के जरिए कहा कि उनकी हालत ठीक नहीं है. उन्हें एक आंख से दिखना बंद हो गया है. दूसरी से भी धुंधला और केवल 25 प्रतिशत दिख रहा है. साथ ही ब्रेन से लेकर रेटीना तक में सूजन और पस है. डॉक्टरों ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर को बातचीत करने से मना किया है. भोपाल में अपने लापता होने के पोस्टर चस्पाने पर उन्होंने कहा कि ये कांग्रेस की घृणित हरकत है. लॉकडाउन (Lockdown) में वो जरूर दिल्ली में हैं लेकिन, उनकी पूरी टीम भोपाल संसदीय क्षेत्र में तत्पर है.

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के नेता उनके बारे में बेसिर-पैर की बातें कह रहे हैं. मैं आज जिन बीमारियों से परेशान हूं यह कांग्रेस की सरकारों द्वारा दी गई हैं. सांसद प्रज्ञा ठाकुर से जुड़े सूत्रों का कहना है कि उन्हें सिर, आंख और कमर में परेशानी के बाद एम्स में भर्ती कराया गया है. डॉक्टरों ने साध्वी को आराम की सलाह दी है. सूत्रों का कहना है कि पूर्व की कांग्रेस सरकार के समय गिरफ्तारी और पूछताछ के दौरान प्रज्ञा ठाकुर को काफी प्रताड़ित किया गया था. इस दौरान उनकी आंख और सिर में चोट लग गई थी. इसके अलावा उन्हें कमर में भी दर्द शुरू हुआ था.

भोपाल में लगाए गए थे लापता रहने के पोस्टर

बता दें कि गुरुवार-शुक्रवार की रात भोपाल के कई इलाकों में प्रज्ञा ठाकुर के लापता होने के पोस्टर लगे थे. इस पर सांसद के समर्थकों ने शहर के टीटी नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. इससे पहले भी शहर में साध्वी की गुमशुदगी के पोस्टर लगाए गए थे.

YOUR REACTION?



Facebook Conversations



Disqus Conversations