भारत-चीन सीमा (India-China Border Dispute) पर विवाद लगातार गहराता जा रहा है. एक तरफ चीन भले ही कूटनीति की बात कर रहा हो लेकिन दूसरी तरफ उसने युद्ध की तैयारी शुरू कर दी है. चीनी सेना (People’s Liberation Army-PLA) भारत से सटी तिब्बत सीमा के पास युद्ध अभ्यास में उपयोग होने वाले हथियार भेजकर युद्ध […]

भारत-चीन सीमा (India-China Border Dispute) पर विवाद लगातार गहराता जा रहा है. एक तरफ चीन भले ही कूटनीति की बात कर रहा हो लेकिन दूसरी तरफ उसने युद्ध की तैयारी शुरू कर दी है.

चीनी सेना (People’s Liberation Army-PLA) भारत से सटी तिब्बत सीमा के पास युद्ध अभ्यास में उपयोग होने वाले हथियार भेजकर युद्ध का अभ्यास कर रही है. चीन से सेना रात में अभ्यास कर रही है जिससे रात में युद्ध होने की स्थिति में भी वह जंग कर सके.

रात के अंधेरे में की युद्ध की तैयारी
चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन की सेना रात के अंधेरे में तिब्बत कमांड के ऊंचाई वाले इलाके में युद्ध की तैयारी कर रही है. रात के एक बजे पूरी बटालियन ने तिब्बत कि तंग्गुलिया माउंटेन कि तरफ निशाना बनाकर युद्ध अभ्यास किया.

इस दौरान सभी गाड़ियों ने अपनी लाइटें बंद रखीं और नाइट विजन डिवाइसेज के सहारे युद्ध लड़ने का अभ्यास किया गया. इस अभ्यास के दौरान 2000 से ज्यादा मोर्टार, राइफल ग्रेनेड, एंटी टैंक रॉकेट का इस्तेमाल किया गया. ये अभ्यास कमांडर ऑफ़ स्काउट बटालियन मा किन की देखरेख में अंजाम दिया गया.

मोदी और ट्रंप में हुई सीमा विवाद पर चर्चा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मंगलवार को चीन विवाद के साथ की कई मुद्दों पर चर्चा हुई. ट्रंप ने मोदी को अगली जी-7 शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका आने का निमंत्रण दिया.

अमेरिकी राष्ट्रपति जी-7 का विस्तार कर भारत को उसमें शामिल करने के पक्षधर हैं. अमेरिका के इस प्रस्ताव से चीन बौखला गया है. 

YOUR REACTION?



Facebook Conversations



Disqus Conversations